सोमवार, नोव्हेंबर ०७, २०२२

‘गुरु नानक देव जी के 553 वें प्रकाश पर्व निमित्त मंगलवार को भव्य शोभायात्रा’ |

 तिन बेदीअन की कुल बिखे प्रगटे नानक राइ श्री कलगीधर सत्संग मंडल द्वारा



नागपुर। मानवता के आदर्श बेदी कुल श्री गुरुनानक देव जी के 553 वें प्रकाश पर्व निमित्त जरीपटका स्थित श्री कलगीधर सत्संग मंडल द्वारा विभिन्न नयनाभिराम झॉकियों सहित भव्य शोभायात्रा मंगलवार दि. 8 नवंबर 2022 मंडल के हाल से निकाली जायेगी। सर्वप्रथम दोपहर 1 बजे संगत व अतिथियों द्वारा पूजा अर्चना व आरती कर श्री गुरु गं्रथ साहिब के सम्मुख अरदास कर शोभायात्रा आरंभ करने का आशीर्वाद लिया जाएगा।

शोभायात्रा के आरंभ में बैंड-बाजे, नगाड़े-छेज नृत्य के साथ मनमोहक स्वर्ण रथ पर श्री गुरु ग्रंथ साहिब विराजमान रहेंगेे। श्री गुरु गं्रथ साहिब के आगे-आगे श्रद्धालुजन दूध-पानी का छिड़काव कर संपूर्ण मार्ग साफ करते हुए चलेंगे। श्री गुरु ग्रंथ साहिब के आकर्षक रथ के पीछे श्री गुरु नानकदेव के जीवन चरित्र पर आधारित तथा अन्य दस गुरुओं की आकर्षक झांकियों का समावेश रहेगा। झॉकियों के पीछे-पीछे रागियों का जत्था व हजारों की संख्या में श्रद्धालुजन पैदल चलते हुए गुरुबाणी का गायन करेंगे। शोभायात्रा के स्वागतार्थ विभिन्न संस्थाओं द्वारा स्वागत द्वार व तोरण से मार्ग सजाए जा रहे हैं। 

शोभायात्रा का मार्ग

शोभायात्रा मंडल के हाल से निकल कर श्री कलगीधर सत्संग मंडल द्वार, दयानंद पार्क चौक, कुकरेजा नगर, रिंग रोड, आहुजा नगर, भीम चौक, श्री हेमू कॉलोनी चौक, श्री संत हकीमबाबा थांवरदास की दरबार, बाराखोली रोड, इंदोरा चौक, दस नं. पुलिया, कड़बी चौक, मेकोसाबाग व जरीपटका के प्रमुख मार्गों का भ्रमण करके रात 8 बजे मंडल के हाल में पहुचेंगी, जहंा अरदास व प्रसाद वितरण के साथ शोभायात्रा का समापन होगा।

संयोजक अधि. ममतानी ने श्री गुरु नानकदेवजी के इस धरती पर अवतार लेने के प्रसंग के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि जब धरती पर पापों का बोझ अत्याधिक बढ़ गया तब धरती माता गाय का रुप धारण कर अकाल पुरख परमात्मा को मदद के लिये पुकारा। परमात्मा ने धरती मॉं की पुकार सुनकर श्री गुरुनानकदेवजी को इस संसार के जीवों का उद्धार करने व सभी को सत्कर्म की राह दिखाने के लिये कलियुग में भेजा। गुरुजी ने नाम सिमरन व सत्य व्यवहार का उपदेश दिया तथा बताया कि प्रत्येक को अहंकार त्यागकर नम्रता धारण करनी चाहिए। गुरुजी ने धार्मिक आडंबर, अन्याय और अत्याचार के संपूर्ण ताने-बाने की पूरी तरह से भर्त्सना कर प्रत्येक धर्म सम्प्रदाय को सम्मान दिया। अतः श्री गुरु नानकदेवजी ‘जाहर पीर जगत गुरु बाबा’ है।

14 दिवसीय प्रभातफेरी का समापन कल बाबा हकीम थांवरदास दरबार में पाठ के भोग साहिब के साथ प्रातः 7.30 बजे होगा। मंडल की महिलाएं मंडल के हाल में सुबह 10 से 12 बजे तक श्री जपुजी साहिब व श्री सुखमनी साहिब का पाठ करेंगी। कार्यक्रम के संयोजक अधि. माधवदास ममतानी ने बताया कि शोभायात्रा के समापन के उपरांत रात 8 बजे से भव्य आम लंगर का आयोजन मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के लिए किया गया है। अधि. ममतानी ने सभी धार्मिक, सामाजिक, शैक्षणिक, राजनैतिक, संस्था-पंचायत व नागरिकों से उपरोक्त कार्यक्रम में अधिकाधिक संख्या में शामिल होने की विनम्र अपील की है। 

आज प्रभातफेरी में पूर्व केबिनेट मिनिस्टर विधायक डॉ. नितिन राऊत, सुरेश जग्यासी, डॉ. विंकी रुघवानी, ठाकुर जग्यासी, संजय हरदवानी, मोहन मंजानी, डॉ. महेश कृपलानी आदि नागरिकों ने स्वागत कर गुरु महाराज का आशीर्वाद प्राप्त किया। 


Guru Nanak Jayanti is one of the most prominent Sikh festivals which is observed as the birthday of the first of their gurus


SHARE THIS

Author:

खबरबात™ (Khabarbat™) हे मराठी माध्यमातील लोकप्रिय वेबपोर्टल आहे. ताज्या बातम्यांसह डिजिटल अपडेट, राजकीय, सामाजिक, पर्यावरण, रोजगार, बिझनेस बातम्या दिल्या जातात. भारत सरकारच्या माहिती व प्रसारण खात्याच्या डिजिटल मीडियात विभागाकडे Intermediary Guidelines and Digital Media Ethics Code) Rules 2021 नुसार नोंदणीकृत आहे.