महिला मंडल ने किया अनोखी तपस्या का अनुष्ठान - KhabarBat™

Breaking

KhabarBat™

२००९ पासून वाचकांच्या सेवेत


२० ऑक्टोबर २०२१

महिला मंडल ने किया अनोखी तपस्या का अनुष्ठान







काकरोली ।तेरापंथ महिला मंडल द्वारा अनोखी तपस्या नीवी तप का अनुष्ठान किया गया आचार्य श्री महाश्रमण जी के विद्वान शिष्य मुनि श्री संजय कुमार मुनि श्री प्रकाश कुमार एवं मुनि श्री सिद्ध प्रज्ञ के मार्गदर्शन में निवी तप का अनुष्ठान किया गया इस अनुष्ठान में रस परित्याग किया जाता है दूध दही घी चीनी आदि गरिष्ठ भोजन का वर्जन किया जाता है।
उद्बबोधन प्रदान करते हुए मुनि श्री संजय कुमार  ने कहा तपस्या से चेतना के उपर के  केंद्र जागते  हैं और जो लोग रस लोलुप होते हैं उनके नीचे के केंद्र जाग जाते हैं ।जब ऊपर की केंद्र जागते हैं तो आध्यात्मिक शक्तियों का विकास होता है और जब नीचे के केंद्र जागते हैं तो व्यक्ति भौतिकता की और चला जाता है ।मुनि श्री प्रकाश कुमार  स्वामी ने कहा तपस्या से जहां एक ओर स्वास्थ्य अच्छा होता है वही जैन धर्म की तेरापंथ की प्रभावना होती है हमें इस रस परित्याग वाले अनोखे तप को अधिक महत्व देना चाहिए।
मुनि श्री सिद्ध प्रज्ञ  ने कहा रस विजय के माध्यम से शारीरिक स्वास्थ्य मानसिक शांति एवं आध्यात्मिक विकास की प्राप्ति होती है महिला मंडल ने इस अभियान के द्वारा तेरापंथ धर्म संघ की प्रभावना की ।
कार्यक्रम का मंगलाचरण तेरापंथ महिला मंडल के बहनों के द्वारा जागरण गीत से हुआ। इस अवसर पर राजसमंद से समागत  अखिल भारतीय तेरापंथ महिला मंडल की पूर्व सदस्य श्रीमती मंजू बडोला ने कहा तेरापंथ महिला मंडल ने इस अनुष्ठान को करके तेरापंथ की प्रभावना की है। मुनी श्री की मेरे पर अच्छी कृपा रही है और मैं इस अवसर पर मुनि श्री को राजनगर पधारने की अर्ज करती हूं ।तेरापंथ सभा के अध्यक्ष प्रकाश सोनी ने कहा मुनि श्री की विशेष कृपा से हम लोग कल बड़े समूह के साथ गुरुदेव के दर्शन करने गए गुरुदेव ने हमारी बात को ध्यान से सुना और हमें एक अच्छा आश्वासन प्रदान किया। तेरापंथ महिला मंडल की अध्यक्ष श्रीमती इंदिरा पगारिया ने सभी का स्वागत किया कार्यक्रम का सफल संचालन महिला मंडल मंत्री श्रीमती मनीषा कछारा ने किया इस अवसर पर 150 से अधिक भाई बहनों ने बड़े उत्साह के साथ नीवि तप का अनुष्ठान किया। इस अवसर पर मुनि श्री संजयकुमार  मुनि श्री प्रकाश कुमार  एवं मुनि श्री सिद्ध प्रज्ञ ने गुरुदेव के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित की और यह कहा काकरोली का समाज जागृत हुआ और और दर्शन के लिए गए गुरुदेव ने उनकी बात सुनी और एक अच्छा आश्वासन प्राप्त हुआ यह प्रसन्नता की बात है। कार्यक्रम में  150 से अधिक बहनों को तप का पचकान कराते हुए अनुष्ठान कराया
मुनि श्री ने बताया कि कल शरद पूर्णिमा के अवसर पर रात्रि में 9:00 बजे मुनि श्री के सानिध्य में ध्यान का विशेष प्रयोग मून मेडिटेशन जप आदि कराया जाएगा इसमें कोई भी जिज्ञासु व्यक्ति भाग ले सकते हैं।